केंद्रीकृत लोक शिकायत निवारण और मॉनीटरिंग प्रणाली

यह भारत सरकार का एक पोर्टल है, जिसका उद्देश्य नागरिकों को उनकी शिकायतों के निवारण के लिए मंच प्रदान करना है। यदि देश में किसी भी सरकारी संगठन के खिलाफ आपको शिकायत है, तो आप यहां अपनी शिकायत दर्ज कर सकते हैं जो तत्काल निवारण के लिए संबंधित मंत्रालय / विभाग / राज्य सरकार के पास जाएंगे। यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म हैं जहां शीघ्र निवारण के लिए आप अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं

केंद्रीकृत लोक शिकायत निवारण और मॉनीटरिंग प्रणाली (सीपीजीआरएमएस), लोक शिकायत निदेशालय (डीपीजी) तथा प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग के सहयोग से राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआईसी) द्वारा विकसित एनआईसीएनईटी पर ऑनलाइन वेब सक्षम प्रणाली है । सीपीजीआरएमएस वेब प्रौद्योगिकी आधारित प्ले टफार्म है जिसका प्रमुख उद्देश्य् पीडि़त नागरिकों को कहीं से भी और कभी भी (24×7) शिकायतें दर्ज कराने, मंत्रालयों/विभागों/संगठनों को इनकी जांच करने, शीघ्र निवारण हेतु कार्रवाई करने तथा इन शिकायतों का अनुकूल निवारण करवाने में सक्षम बनाना है । इस पोर्टल पर प्रणालीजनित विशिष्ट/ पंजीकरण संख्या के जरिए शिकायतों की निगरानी करना सरल और सुविधाजनक भी है ।

शिकायतें जिन पर निवारण हेतु विचार नहीं किया जाता

  • न्यायाधीन मामले अथवा ऐसे मामले जो किसी न्या यालय के अधिनिर्णय से संबंधित हों ।
  • व्याक्तिगत और पारिवारिक विवाद ।
  • आरटीआई मामले ।
  • ऐसी कोई अन्य शिकायत जिससे देश की क्षेत्रीय अखंडता अथवा अन्यल राष्ट्रोंस के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध प्रभावित हों ।
  • सुझाव ।

शिकायतों के लिए भेजा जा सकता है:

  • प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग । ( डीएआर एंड पीजी) (pgportal.gov.in)
  • पेंशन और पेंशनभोगी कल्याण विभाग । (डी पी और पीडब्लू) (pgportal.gov.in/pension/)

उपरोक्त नोडल एजेंसियों को pgportal.gov.in के जरिए ऑनलाइन शिकायतें मिलती हैं, साथ ही जनता द्वारा पोस्ट या व्यक्ति द्वारा हाथ से।

शिकायतें pgportal.gov.in पर ऑनलाइन दर्ज की जा सकती हैं . ऐसे मामलों में जहां इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध नहीं है या अन्यथा, नागरिक को उसकी शिकायत पोस्ट द्वारा भेजने के लिए स्वतंत्र है| कोई निर्धारित प्रारूप नहीं है।

शिकायत कागज के किसी भी सादे पत्र या किसी पोस्टकार्ड / अंतर्देशीय पत्र पर लिखी जा सकती है और विभाग को संबोधित किया जा सकता है। शिकायत को ऑनलाइन या पोस्ट द्वारा स्वीकार किया जाता है। प्रत्येक शिकायत के लिए एक अद्वितीय पंजीकरण संख्या दी जाती है। अपनी शिकायत की स्थिति देखने के लिए वेबसाइट पर जा कर स्थिति देखे पर क्लिक करके और अद्वितीय पंजीकरण संख्या दर्ज करके शिकायत की स्थिति को देखा जा सकता है

शिकायत के निवारण के लिए साठ (60) दिन की समय सीमा निर्धारित की गई है। देरी के मामले में विलंब के कारणों के साथ एक अंतरिम उत्तर दिए जाने की आवश्यकता है।

You may also like...